दिशा&छाया न्यूज़ को आवश्यकता है मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर, शामली ओर उत्तर प्रदेश में से तहसील, जिला स्तर,कस्बो,गांव में से रिपोर्टर,ओर कैमरामैन, एंकर, के लिए इछुक लड़के और लड़कियां हमे तुरन्त संपर्क करे :-09891980535, 09690142222, 08868991239

श्रीलंका में भड़के दंगेः हिंसा के ज्वालामुखी पर केरल और तमिलनाडु?

Spread the love

नई दिल्ली  : ईस्टर संडे पर हुए आतंकी हमलों बाद श्रीलंका में मुसलमानों के खिलाफ गुस्सा अब सामने आने लगा है। पश्चिमी तटवर्ती शहर चिला में हुई हिंसात्मक घटनाओं से न केवल श्रीलंका सरकार के माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी हैं बल्कि श्रीलंका में हो रही इन घटनाओं का असर भारत के तमिलनाडु और केरल में भी ईसाई-मुस्लिम संघर्ष  की आशंका बढ़ गयी है। इसी के मद्देनजर केरल और तमिलनाडु में सभी एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दे दिये गये हैं। बहरहाल, ईस्‍टर पर हुए आतंकी हमलों के बाद अब श्रीलंका में दंगों के भड़कने का खतरा मंडराने लगा है। ताजा घटना श्रीलंका के पश्चिमी तटवर्ती शहर चिला में हुई जहां एक मस्जिद और कुछ मुस्लिम दुकानदारों पर भीड़ के हमले के बाद रविवार को कर्फ्यू लगा दिया गया। अधिकारियों ने बताया कि शहर में अतिरक्ति पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं। स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में हैं। यह कर्फ्यू सोमवार शाम छह बजे तक जारी रहेगा। ईसाई बहुल चिला शहर में कैथोलिक और मुसलमानों के बीच शनिवार से तनाव बढ़ रहा था। दोनों समुदायों के बीच कई बार टकराव हुआ। एक ईसाई महिला ने दावा किया कि उसको एक मुस्लिम की दुकान में धमकी दी गई। यह तनाव आज सुबह चर्चों के खुलने के बाद भड़का। बता दें कि आतंकी हमलों के बाद कोलंबो के आर्कबिशप ने स्थिति सामान्‍य होने तक सभी धार्मिक सभाएं स्‍थगित कर दी थी।श्रीलंका में ईस्टर संडे को हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 250 लोगों की मौत हो गई थी और 500 से अधिक घायल हुए थे। इन हमलों को नौ आत्‍मघाती हमलावरों द्वारा अंजाम दिया गया था। आईएस ने इन हमलों की जिम्‍मेदारी ली थी, लेकिन श्रीलंकाई सरकार ने स्‍थानी चरमपंथी समूह तौहीद जमात को इन हमलों के लिए जिम्‍मेदार ठहराया था।इस महीने की शुरुआत में श्रीलंकाई शहर नेगोंबो में भी ईसाई और मुस्लिम के बीच झड़पें हुई थीं, जिनमें कई लोग घायल हो गए थे। नेगोंबो शहर ईसाई बहुल है, जहां सेंट सेबेस्टियन चर्च भी पिछले दिनों हुए आतंकी हमलों की चपेट में आया था। ईसाई और मुस्लिम समुदाय के बीच लगातार हो रही झड़पों को देखते हुए आर्कबिशप ने समाज के सभी वर्गों से संयम बरतने की अपील की थी। उन्‍होंने ईसाई समुदाय से कहा था कि वे किसी भी मुस्लिम को चोट न पहुंचाएं।


Spread the love