दिशा&छाया न्यूज़ को आवश्यकता है मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर, शामली ओर उत्तर प्रदेश में से तहसील, जिला स्तर,कस्बो,गांव में से रिपोर्टर,ओर कैमरामैन, एंकर, के लिए इछुक लड़के और लड़कियां हमे तुरन्त संपर्क करे :-09891980535, 09690142222, 08868991239

कर्नाटक: महाबलेश्वर मंदिर ने लागू किया ड्रेस कोड, जींस-पैंट पहनने पर लगी रोक

Spread the love

नई दिल्ली: कर्नाटक में गोकर्ण के महाबलेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओं के जींस पैंट, पायजामा और बरमूडा शार्ट्स पहन कर आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। अब पुरूष श्रद्धालु सिर्फ धोती पहन कर, जबकि महिलाएं सलवार सूट और साड़ी पहन कर यहां प्रवेश कर सकेंगी।

गोकर्ण महाबलेश्वर मंदिर के कार्यकारी अधिकारी एच हलप्पा ने गुरुवार को बताया, ‘‘हम गोकर्ण में ड्रेस कोड पहले ही लागू कर चुके हैं। प्रतिबंध पहले से थे लेकिन हमने एक महीने पहले इसे लागू किया।’’

उन्होंने बताया कि शर्ट, पैंट, हैट, कैप और कोट पहन कर प्रवेश करने की भी इजाजत नहीं होगी। हलप्पा ने बताया कि पुरुषों को धोती पहन कर आना होगा। वे शर्ट और टी शर्ट पहन कर प्रवेश नहीं कर सकेंगे। सलवार सूट और साड़ी पहनी महिलाओं को ही प्रवेश की इजाजत होगी। वे जींस पैंट पहन कर नहीं आ सकतीं।

गोकर्ण मंदिर के पास रामचंद्रपुरा मठ के पूर्व प्रशासक जी के हेगड़े ने इस आदेश पर कहा कि, ड्रेस कोड का आदेश अच्छा नहीं है। उन्होंने कहा कि,गोकर्ण आने वाले लोगों को ऐसे नियम परेशान करेंगे क्योंकि यह एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। उन्होंने कहा कि, इससे पहले ड्रेस कोड केवल पुरुषों के लिए था कि उन्हें शर्ट पहनने और स्नान के बिना मंदिर में प्रवेश नहीं निषेध था। लेकिन महिलाओं के लिए कोई भी ड्रेस कोड नहीं था।

हेगड़े ने कहा कि भक्तों और मंदिर पुजारियों के साथ चर्चा करके ड्रेस कोड पेश किया जाना चाहिए था, जो सालों से इन परंपराओं को निभा रहे थे। गौरतलब है कि इस मंदिर का निर्माण चौथी सदी में कदंब राजवंश के मयूर शर्मा ने कराया था। सूत्रों ने बताया कि इसी तरह का प्रतिबंध हम्पी के विरुपाक्ष मंदिर में भी है। यह सातवीं सदी का मंदिर है।


Spread the love