दिशा&छाया न्यूज़ को आवश्यकता है मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर, शामली ओर उत्तर प्रदेश में से तहसील, जिला स्तर,कस्बो,गांव में से रिपोर्टर,ओर कैमरामैन, एंकर, के लिए इछुक लड़के और लड़कियां हमे तुरन्त संपर्क करे :-09891980535, 09690142222, 08868991239

गोंडा :डीएम व एसपी ने संरक्षण गृहों की छापेमारी,किया बारीकी से जाँच।

Spread the love

गोंडा :- शासन के निर्देश पर मंगलवार को सुबह तड़के डीएम कैप्टेन प्रभान्शु श्रीवास्तव व एसपी लल्लन सिंह ने शहर में संचालित बाल संरक्षण गृहों में सघन छापेमारी की तथा एक-एक चीज की विधिवत जानकारी ली और निरीक्षण के दौरान प्राप्त बिन्दुओं पर शासन को रिपोर्ट भेज दिया।
    बताते चलें कि देवरिया की घटना के बाद मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के सभी डीएम को बाल संरक्षण गृहों का निरीक्षण कर शासन को रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए गए थे। सबस पहले डीएम सिंचाई विभाग कालोनी के सामने एनजीओ ग्रामीण विकास समिति द्वारा संचसलित बाल संरक्षण गृह का निरीक्षण किया। वहां पर डीएम को 11 बच्चे पंजीकृत पाए जिसमें 10 बच्चे मौके पर मिले और बच्चा अस्पताल में भर्ती किया गया तथा दिन रात शिफ्ट मिलाकार कुल 12 स्टाफ कर्मचारी रजिस्टर के अनुसार मिले। डीएम ने बच्चों से अकेले में पूछताछ की। संस्था के क्वार्डिनेटर उपेन्द्र श्रीवास्तव तथा संरक्षण गृह की अधीक्षिका अर्चना से भी डीएम ने गहन पूछताछ की। इसके बाद डीएम सीधे जेल रोड पर संचालित ज्योति विद्या मन्दिर स्वधारहोम पर पहुचें। वहां पर डीएम को दो बच्चियां एक महिला मिलीं। महिला अन्नपूर्णा, उसकी दो बेटियां राधा, अंकिता वहां पर रह रही है। महिला तथा दोनों बेटियों से डीएम व एसपी ने अकेले में बात की ओर किसी भी प्रकार के नाजायज दबाव व अनैतिक कार्यों के बारे में पूछा जिस पर उन लोगों द्वारा बताया गया कि उनके ऊपर किसी भी प्रकार का दबाव नहीं बनाया जाता है।
    इसके बाद डीएम ने पोर्टरगंज स्थित गोण्डा चाइल्ड प्रोटेक्शन होम बाल ( दत्तक ग्रहण अभिकरण) में पहुंचे। वहां पर डीएम को सभी व्यवस्थाएं चाकचैबन्द मिलीं। वहां पर 10 बच्चे तथा  स्टाफ मिले। इसके उपरान्त डीएम व एसपी ने राधाकुण्ड स्थित राजकीय सम्प्रेक्षण गृह का निरीक्षण किया। वहां पर 50 बच्चे विभिन्न मामलों में तहत निरूद्ध बच्चे रह रहे हैं। वहा ंपर मौके पर 42 बच्चे मिले ?, 6 बच्चे पेशी पर न्यायालय, एक बच्चा  कानपुर तथा एक बच्चा उपचार के लिए अस्पताल गया हुआ बताया गया। डीएम ने वहां पर भी बच्चों से सीधे संवाद कर स्थापित सारी जानकारियां इकट्ठा की। उड़ीसा का एक बच्चा फूलचन्द जो कि सुन्दर पेंिटंग बना लेता है को डीएम ने पेन्ट, पेपर व अन्य आवश्यक चीजे उपलब्ध कराने के निर्देश डीपीओ को दिए हैं। निरीक्षण के दौरान डीएम को कोई भी चीज आपत्तिजनक नहीं मिली। डीएम ने निरीक्षण की रिपोर्ट शासन को भेज दी है।
 निरीक्षण के दौरान मख्य विकास अधिकारी अशोक कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह सहित संस्थाओं के संचालक व अन्य उपस्थित रहे।
ब्यूरो रिपोर्ट :- इमरान गोंडा

Spread the love