दिशा&छाया न्यूज़ को आवश्यकता है मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर, शामली ओर उत्तर प्रदेश में से तहसील, जिला स्तर,कस्बो,गांव में से रिपोर्टर,ओर कैमरामैन, एंकर, के लिए इछुक लड़के और लड़कियां हमे तुरन्त संपर्क करे :-09891980535, 09690142222, 08868991239

चिदंबरम बोले, GST के दायरे में आने चाहिए पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स और इलेक्ट्रिसिटी

Spread the love

नई दिल्ली  : कांग्रेस नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने कहा मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जीएसटी से भारतीय  अर्थव्यस्था पर नकारात्मक असर पड़ा है। उन्होंने कहा तमिलनाडु में 50,000 लघु उद्द्योग बंद हो गए, 5 लाख लोगों की नौकरी चली गई।
चिदंबरम ने कहा कि संविधान संशोधन बिल से शुरुआत करें तो इसमें कई खामिया थीं। चिदंबरम जीएसटी बिल में मुख्य आर्थिक सलाहकार की सलाह को कई जगहों पर नहीं माना गया।

चिदंबरम ने कहा कि सरकार ने बुरी चीजों को बड़े पैमाने पर (नोटबंदी) और बड़ी चीजों को बुरे तरीके से (जीएसटी) अंजाम दिया। जीएसटी का डिजाइन, स्ट्रक्चर, इन्फ्रास्ट्रक्चर, रेट और इसे लागू करने का तरीका ऐसा था कि बिजनस करने वाले, ट्रेडर्स और आम लोगों के लिए जीएसटी एक बुरा शब्द बन गया।


Spread the love