मथुरा में एक संदिग्ध की गिरफ्तारी, दिल्ली की जामा मस्जिद के होटलों पर पुलिस के छापे

Spread the love

नई दिल्ली: आतंकी हमले के अंदेश के चलते यूपी सहित कई राज्यों में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है. रविवार को मथुरा में एक संदिग्ध के पकड़े जाने के बाद दिल्ली के जामा मस्जिद इलाके में दो होटलों में छापेमारी की गई, हालांकि जिन दो संदिग्धों को तलाश किया जा रहा था वे 6 जनवरी को ही गायब हो गए.

गणतंत्र दिवस के मद्देनजर सुरक्षा एजेंसियों ने बड़े पैमाने पर गायब हुए संदिग्धों की तलाश शुरू कर दी है. सूत्रों के मुताबिक रविवार को दिल्ली-भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन से एक शख्स यात्रा कर रहा था. मथुरा के पास उसकी गतिविधियों के मद्देनजर संदेह होने पर टीटी ने जीआरपी को इसकी जानकारी दी. जीआरपी ने जब उससे पूछताछ की तो वह पागलों की तरह हरकतें करने लगा. इसके बाद जीआरपी ने इसकी जानकारी यूपी एटीएस को दी.

जांच में पता चला कि उस शख्स का नाम बिलाल अहमद वागय है जो कि कश्मीर के अनंतनाग का रहने वाला है. उसने बताया कि वह और उसके दो कश्मीरी साथी 26 जनवरी के कार्यक्रम और अक्षरधाम मंदिर पर हमला करने की तैयारी कर रहे थे. उसके दो साथी जामा मस्जिद के पास दो होटलों में ठहरे हुए हैं. बिलाल ने बताया कि इन होटलों में

यूपी एटीएस ने तुरंत इसकी जानकारी दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को दी. इसके बाद स्पेशल सेल और यूपी एटीएस ने मिलकर जामा मस्जिद इलाके के दो होटलों जमजम रेस्टोरेंट और अल राशिद होटल में छापेमारी की. जांच में पता चला कि जिन दो संदिधों के नाम बिलाल ने बताए थे वे 2-3 दिन से अल राशिद होटल में रुके थे, लेकिन वे 6 जनवरी की सुबह 8:30 बजे ही चले गए.

पुलिस ने होटल का सीसीटीवी फुटेज और दोनों संदिधों के पहचान पत्र जब्त कर लिए हैं. सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक अभी यह साफ नहीं है कि ये लोग किसी आतंकी गतिविधि से जुड़े हैं. बिलाल के पास से कोई आपत्तिजनक सामान या हथियार भी बरामद नहीं हुआ है. लेकिन दिल्ली और कई राज्यों में इनकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है. कश्मीर पुलिस को भी इसकी जानकारी दे दी गई है.


Spread the love