शिवपाल मौन, समर्थक उग्र, अब मुलायम के खिलाफ बगावत की तैयारी?

Spread the love

समाजवादी संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल यादव को गच्चा देकर बेटे के अखिलेश यादव के साथ खड़े हो गए हैं. मुलायम के इस कदम से शिवपाल पूरी तरह से मौन हैं, लेकिन उनके करीबियों ने नेताजी के खिलाफ बगावती रूप अख्तियार कर लिया है.

मुलायम अखिलेश को मजबूत करने में जुटे हैं- शारदा शुक्ल

दरअसल मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल की दी हुई प्रेस रिलीज नहीं पढ़ी जिसमे अलग पार्टी बनाने का जिक्र था. इससे शिवपाल खेमा इस कदर नाराज हो गया है. कभी मुलायम के खासमखास रहे और अब शिवपाल के करीबी माने जाने वाले शारदा प्रसाद शुक्ल, मुलायम के नई पार्टी नहीं बनाने के ऐलान से इतने खफा हुए कि उन्होंने मुलायम सिंह यादव को न सिर्फ नकली समाजवादी करार दिया बल्कि कहा कि दोनों बाप-बेटे मिले हुए हैं. मुलायम सिर्फ अखिलेश को मजबूत करने मे जुटे है.

डिंप्पल यादव को जबरन जिताया गया

शारदा शुक्ल ने कहा,  मुलायम सिंह यादव पार्टी कार्यकर्ताओं और जनता के साथ छलावा कर रहे है. सपा का अब कोई वजूद नही रह गया पिछले चुनाव में कन्नौज से डिम्पल यादव 20 हजार वोटो से हार गयी थी, लेकिन सरकार होने के कारण उन्हे जबरन जिताया गया है.

सपा को हराने के लिए शिवपाल के साथ

शारदा प्रसाद शुक्ला ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव मे सपा के प्रत्याशी को हराने का काम खुद करेंगे. इसके लिए सभी लोकसभा सीटों पर वह जमीन पर उतर कर करेगें. उन्होंने कहा कि अब वो मुलायम से वह शिवपाल यादव का साथ देगें.

शिवपाल समर्थक मुलायम के खिलाफ

बता दें कि मुलायम के रवैए से शिवपाल खेमा इस कदर नाराज है कि वो अलग पार्टी बनाने की संभावनाएं तलाशने में जुट गया है. मुलायम के यू टर्न के बाद, शिवपाल अपने समर्थकों में गुस्से को देखते हुए खुद ही खुद ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले थे, लेकिन ऐन वक्त कैंसिल कर दिया.इसके बाद से जाहिर तौर पर शिवपाल मौन हैं, लेकिन नई पार्टी बनाने की उम्मीद को उन्होंने छोड़ा नहीं है.

बाप-बेटे की लड़ाई नाटक है: अमर सिंह

शिवपाल और उनके समर्थक ठगे महसूस कर रहे हैं तो अमरसिंह ने उसी दिन विंध्याचल में पिता-पुत्र की इस लड़ाई को ड्रामा करार दे चुके हैं, अमरसिंह के मुताबिक ये मुलायम सिंह की बेटे अखिलेश को मजबूत करने की एक सोची समझी चाल है जिसमें बाकी लोग ठगे जा रहे हैं.

शिवपाल बनाएंगे नई पार्टी?

माना जा रहा है कि अब शिवपाल जल्द ही अपनी नई पार्टी बनाए का ऐलान करेंगे. पुराने और अखिलेश से नाराज समाजवादी नेताओं को जुटाकर शिवपाल जल्द ही बड़ा ऐलान करेंगे.

अखिलेश खेमा खुश

उधर अखिलेश यादव का खेमा खुश है, अब समाजवादी पार्टी के यूथ नेताओं का मुलायम सिंह यादव के घर आना जाना बढ़ गया है और जैसे ही अखिलेश ने ट्विटर पर नेताजी जिंदाबाद और समाजवादी पार्टी जिंदाबाद का नारा बुलंद किया अब अखिलेश खेमा मुलायम सिंह को अपने साथ मानकर चल रहा है.


Spread the love